यह ब्लॉग खोजें

बुधवार, 12 अप्रैल 2017

नंगे होकर अपनी शर्म नीलाम न करो किसान भाइयो.........

प्रधानमंत्री  धनाड्यों से मिलते हैं ग़रीब  किसानों  से नहीं ! 

http://tz.ucweb.com/4_T7cl